Mohabbat Mujhe Thi Usi

मोहब्बत मुझे थी उसी से सनम,
यादों में उसकी यह दिल तड़पता रहा,
मौत भी मेरी चाहत को रोक न सकी,
कब्र में भी यह दिल धड़कता रहा।

Mohabbat Mujhe Thi Usi Se Sanam,
Yaadon Mein Uski Yeh Dil Tadpta Raha,
Maut Bhi Meri Chahat Ko Rok Na Saki,
Kabr Mein Bhi Yeh Dil Dhadkta Raha.

Kimat Pani Ki Nahi

किमत पानी की नही, प्यास की होती है,
कदर मौत की नही, सांस की होती है,
प्यार तो बहुत लोग करते है दुनिया मे,
पर किमत प्यार की नही, विश्वास की होती है।

Kimat Pani Ki Nahi Pyaas Ki Hoti Hai,
Kimat Maut Ki Nahi Sans Ki Hoti Hai,
Pyar To Bhut Log Karte Hai Duniya Main,
Par Kimat Pyar Ki Nahi Vishwash Ki Hoti Hai.

Jindagi To Humesha Se Hi

जिंदगी तो हमेशा से ही,
बेवफा और ज़ालिम होती है मेरे दोस्त,
बस एक मौत ही वफादार होती है,
जो हर किसी को मिलती है।

Jindagi To Humesha Se Hi,
Bewafa Aur Jalim Hoti Hai Mere Dost,
Bas Ek Maut Hi Wafadar Hoti Hai,
Jo Har Kisi Ko Milti Hai.

Ruh-e-Ishq Ka Anjaam

रूह ए इश्क़ का अंजाम तो देखो
अपनी मौत का पैगाम तो देखो,
खुदा खुद लेने आया है जमीन पर
ये टूटे दिल का इनाम तो देखो।

Ruh-e-Ishq Ka Anjaam To Dekho,
Apani Maut Ka Paighaam To Dekho,
Khuda Khud Lene Aaya Hai Jamin Par,
Ye Tute Dil Ka Inaam To Dekho.

Dil-e-Khwahish Janaab Koi

दिले ख्वाहिश जनाब कोई उनसे भी तो पूछे,
ख्वाहिश में जरुर वो मेरी मौत ही मांगेंगे देखना।

Dil-e-Khwahish Janaab Koi Unse Bhi To Puche,
Khwahish Me Jarur Wo Meri Mait Hi Mangengey Dekhna.

Kitna Dard Hai Dil Me Dikhaya

कितना दर्द है दिल में दिखाया नहीं जाता,
किसी की बर्बादी का किस्सा सुनाया नहीं जाता,
एक बार जी भर के देख लो इस चेहरे को,
क्योंकि बार बार कफ़न उठाया नहीं जाता।

Kitna Dard Hai Dil Me Dikhaya Nahin Jata,
Kisi Ki Barbadi Ka Kissa Sunaya Nahin Jata,
Ek Baar Ji Bhar Ke Dekh Lo Is Chehre Ko,
Kyoki Baar Baar Kafan Uthaya Nahin Jata.